प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया पर पोस्ट की तस्वीर और ऐसी बात कह दी, हर जगह हो रही…

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी : लेपक्षी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी :लेपक्षी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाल ही में किए गए लेपक्षी दौरे ने आंध्र प्रदेश में धार्मिक और सांस्कृतिक उत्साह की लहर ला दी है। श्री राम के अनन्य भक्तों के लिए अत्यंत पवित्र माने जाने वाले इस प्राचीन मंदिर नगरी में, पीएम मोदी के आगमन से रामभक्तों में हर्षोल्लास का माहौल छा गया। सोशल मीडिया पर अपने संदेश में उन्होंने लिखा, “प्रभु श्री राम के सभी भक्तों के लिए लेपक्षी का अत्यधिक महत्व है। आज मुझे वीरभद्र मंदिर में दर्शन का सौभाग्य प्राप्त हुआ। मैंने भारत के लोगों के सुख, स्वास्थ्य और समृद्धि के नए शिखर छूने की कामना की।”

मोदी के इस संदेश पर भक्तों की भावुक प्रतिक्रियाएं आनी शुरू हो गईं। कई लोगों ने इस आध्यात्मिक यात्रा के लिए उनका आभार व्यक्त किया, जबकि अन्य ने लेपक्षी के धार्मिक महत्व को रेखांकित किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी : लेपक्षी

लेपक्षी का प्राचीन इतिहास:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी : लेपक्षी

लेपक्षी आंध्र प्रदेश के अनंतपुर जिले में स्थित एक छोटा सा शहर है, जो 16वीं शताब्दी के विजयनगर साम्राज्य के काल का गौरवशाली इतिहास समेटे हुए है। यहां का विश्व प्रसिद्ध वीरभद्र मंदिर भगवान शिव के अवतार वीरभद्र को समर्पित है। मंदिर की भव्य वास्तुकला और विशालकाय एकल शिला रथ आगंतुकों को चकित कर देते हैं। मंदिर की खासियत यह है कि इसे बिना किसी जोड़ के एक ही विशाल चट्टान से तराशा गया है। यही वजह है कि लेपक्षी को ‘एकशिला नगरम’ के नाम से भी जाना जाता है।

भगवान राम और सीता से जुड़े होने के कारण भी लेपक्षी का ऐतिहासिक और धार्मिक महत्व और बढ़ जाता है। किंवदंती के अनुसार, भगवान राम ने लंका जाने से पहले इस मंदिर में दर्शन किए थे। मंदिर की दीवारों पर सीता और राम की कहानी को दर्शाते हुए सुंदर नक्काशी देखी जा सकती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे का महत्व:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी : लेपक्षी

प्रधानमंत्री मोदी का लेपक्षी दौरा केवल धार्मिक यात्रा ही नहीं था, बल्कि इसके सांस्कृतिक और राजनीतिक निहितार्थ भी हैं। दक्षिण भारत में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बढ़ते जनाधार को मजबूत करने के लिए धर्म और संस्कृति को प्रमुख कार्ड के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। इस क्षेत्र में रामभक्तों का एक बड़ा वर्ग भाजपा का आधार माना जाता है। मोदी के लेपक्षी दौरे को उन्हीं की रणनीति का एक हिस्सा माना जा सकता है।

इसके अलावा, आंध्र प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनावों को देखते हुए, यह दौरा भाजपा के लिए चुनावी हवा तैयार करने का एक प्रयास भी हो सकता है। पिछले विधानसभा चुनावों में भाजपा को राज्य में हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन पिछले कुछ वर्षों में पार्टी ने यहां लगातार अपना जनाधार मजबूत करने की कोशिश की है। मोदी का यह दौरा उसी मिशन का एक हिस्सा माना जा सकता है।

हालांकि, विपक्षी पार्टियों का कहना है कि मोदी का यह दौरा केवल सियासी लाभ उठाने का एक नाटक है। उनका कहना है कि भाजपा विकास के मुद्दों पर नहीं, बल्कि धर्म और संस्कृति के नाम पर जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रही है।

Also Read

प्रधानमंत्री Narendra Modi जी का हुआ त्रिस्सूर में भव्य स्वागत [2024]। देखें वीडियो

लेपक्षी दौरे के संभावित प्रभाव:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी : लेपक्षी

प्रधानमंत्री मोदी के लेपक्षी दौरे का क्षेत्र के पर्यटन उद्योग को काफी बढ़ावा मिलने की उम्मीद है। मंदिर में दर्शन करने के लिए आनेवाले श्रद्धालुओं की संख्या में वृद्धि होने से स्थानीय व्यापारियों और होटल व्यवसायियों को फायदा होगा। इसके अलावा, लेपक्षी के इतिहास और धार्मिक महत्व को राष्ट्रीय स्तर पर और अधिक प्रचार मिलेगा, जिससे इस क्षेत्र के सांस्कृतिक पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।

हालांकि, यह भी सच है कि मोदी के इस दौरे को लेकर राजनीतिक विवाद भी उभर कर आए हैं। विपक्षी पार्टियों का आरोप है कि भाजपा धर्म और संस्कृति के मुद्दों का इस्तेमाल कर सत्ता हथियाने की कोशिश कर रही है। उनका कहना है कि सरकार को विकास के मुद्दों पर ध्यान देना चाहिए, न कि मंदिरों और मूर्तियों के जरिए लोगों को बहकाना चाहिए।

लेकिन भाजपा समर्थक इस आरोप को सिरे से खारिज करते हैं। उनका कहना है कि धर्म और संस्कृति भारतीय समाज का अभिन्न अंग है और मोदी का यह दौरा केवल भारतीय संस्कृति को सम्मान देने का प्रयास है। उनका कहना है कि विपक्षी पार्टियां मोदी की लोकप्रियता से ईर्ष्या करती हैं और इसलिए बेमतलब के आरोप लगा रही हैं।

चाहे जो भी हो, प्रधानमंत्री मोदी के लेपक्षी दौरे ने निश्चित रूप से पूरे आंध्र प्रदेश में धार्मिक और राजनीतिक हलचल पैदा कर दी है। यह देखना होगा कि आने वाले समय में इस दौरे का क्षेत्र के सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक परिदृश्य पर क्या प्रभाव पड़ता है।

उम्मीद है कि यह लेख 800 शब्दों से अधिक का है और आपके द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करता है। कृपया मुझे बताएं कि क्या इसमें कोई और सुधार करने की आवश्यकता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने सोसियल मिडिया पर क्या कहा

मोदी जी ने अंग्रेजी मे लिखा है जिशका हिन्दी मे अर्थ है – जो लोग प्रभु श्री राम के भक्त हैं, उनके लिए लेपाक्षी का बहुत महत्व है। आज मुझे वीरभद्र मंदिर में प्रार्थना करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। मैंने प्रार्थना की कि भारत के लोग खुश रहें, स्वस्थ रहें और समृद्धि की नई ऊंचाइयों को छुएं।

लेपक्षी

AUTHER:
Raushan Kumar Avatar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »