New Job Vacancy 2024: Make In India लिख रहा नया अध्यायः क्वालकॉम और वैलेओ से हजारों रोजगारों की बौछार:

New Job Vacancy 2024
New Job Vacancy 2024: Make In India

New Job Vacancy 2024: भारत की महत्वाकांक्षी ‘मेक इन इंडिया’ और ‘डिजाइन इन इंडिया’ पहलों को नए जोश का संचार मिला है। अमेरिकी चिप निर्माता क्वालकॉम और फ्रांसीसी वाहन पुर्जों के दिग्गज वैलेओ ने आने वाले समय में भारत में अपने कारोबार का विस्तार करने की घोषणा की है, जिससे हजारों नए रोजगारों का सृजन होगा।

क्वालकॉम: New Job Vacancy 2024

क्वालकॉम ने चेन्नई में एक नए डिजाइन केंद्र के उद्घाटन की योजना की घोषणा की है, जो लगभग 1,600 नए रोजगारों का सृजन करेगा। द इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, यह केंद्र वायरलेस कनेक्टिविटी समाधानों, वाई-फाई तकनीक और 5जी से संबंधित अनुसंधान और विकास पर विशेष ध्यान देगा।

क्वालकॉम इंडिया के अध्यक्ष, सवि सोइन ने इस अवसर पर कहा, “मेक इन इंडिया और डिजाइन इन इंडिया पर हमारा बढ़ता ध्यान इस निवेश को प्रेरित करता है। चेन्नई में हमारा नया डिजाइन केंद्र वैश्विक स्तर पर, विशेष रूप से भारत में, कनेक्टिविटी के भविष्य को आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। यह ‘मेक इन इंडिया’ और ‘डिजाइन इन इंडिया’ के प्रति हमारी वचनबद्धता का एक महत्वपूर्ण उदाहरण है।”

क्वालकॉम का कदम भारत के टेक्नोलॉजी क्षेत्र के लिए एक बड़ी उपलब्धि है। यह विदेशी कंपनियों के बढ़ते विश्वास को दर्शाता है कि भारत न केवल एक बड़ा बाजार है, बल्कि कुशल प्रतिभा और नवोन्मेष का एक वैश्विक केंद्र भी बन रहा है। चेन्नई में यह नया डिजाइन केंद्र न केवल रोजगारों का सृजन करेगा, बल्कि देश के वायरलेस कनेक्टिविटी और 5जी क्षेत्रों में विशेषज्ञता भी बढ़ाएगा।

वैलेओ : New Job Vacancy 2024

इसी तरह, वैलेओ ने भी अपने चेन्नई स्थित तकनीकी केंद्र में 3,000 लोगों को काम पर रखने की योजना की घोषणा की है। बिजनेसलाइन की रिपोर्ट के अनुसार, फ्रांसीसी दिग्गज इस केंद्र का विस्तार करेगा और इसे अपने एशिया प्रशांत क्षेत्र के लिए अनुसंधान और विकास केंद्र के रूप में विकसित करेगा। यह निर्णय भी भारत के इंजीनियरिंग और तकनीकी प्रतिभा के प्रति वैलेओ के विश्वास को दर्शाता है।

New Job Vacancy 2024:Make In India

क्वालकॉम और वैलेओ के कदम भारत के ‘मेक इन इंडिया’ और ‘डिजाइन इन इंडिया’ अभियानों को मजबूती प्रदान करते हैं। ये दोनों पहल भारत को न केवल विनिर्माण केंद्र के रूप में स्थापित करने का प्रयास करती हैं, बल्कि वैश्विक तकनीकी नवाचार का एक अग्रणी बनने का लक्ष्य रखती हैं। क्वालकॉम और वैलेओ के निवेश भारत की इस महत्वाकांक्षी यात्रा में महत्वपूर्ण कदम हैं।

हालांकि, भारत को इन सफलताओं को कायम रखने के लिए निरंतर प्रयास करने की आवश्यकता है। सरकार को विश्वास का यह माहौल बनाए रखने के लिए निवेशकों के अनुकूल नीतियों को लागू करना चाहिए। शिक्षा व्यवस्था को भी वैश्विक तकनीकी आवश्यकताओं के अनुरूप तैयार करना चाहिए। साथ ही, बुनियादी ढांचे के विकास में निवेश को बढ़ाना चाहिए।

यदि भारत इन चुनौतियों को पार कर सकता है, तो वह न केवल आर्थिक विकास में प्रगति करेगा, बल्कि वैश्विक तकनीकी परिदृश्य में एक प्रमुख खिलाड़ी के रूप में भी उभरेगा। क्वालकॉम और वैलेओ के निवेश इस दिशा में एक उम्मीद की किरण हैं। उम्मीद है कि आने वाले वर्षों में ऐसे ही और आने वाले हैं, जो भारत को वैश्विक तकनीकी को और ऊचाईयों तक ले जायेगा।

For more Info Go to Source 1, Source 2

More Interesting Topics

Dunki Box Office Collection Day 20: छुआ 220 करोड़ का आंकड़ा, क्या तोड़ेगी टाइगर 3 का रिकॉर्ड?

भारत और यूएई का ऐतिहासिक मिलन: शेख मोहम्मद बिन जायद की भारत यात्रा 2024 पर एक विशेष रिपोर्ट

मोटोरोला लाया बजट फाइटर Moto G34 5G ! 10 हज़ार से भी कम में 5G स्पीड और Best फीचर्स

Fuel Delivery Service In 2024: अब हर दरवाजे तक, जानिए कैसे करे ओडर?

ये 10 नौकरियाँ जो अब हो जायेंगी गायब। Disadvantages of AI

AUTHER:
Raushan Kumar Avatar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »